in ,

यूपी बोर्ड की परीक्षा कल सात फरवरी से शुरू I

सात फरवरी से शुरू हो रहे दसवीं क्लास की परीक्षा अठाइस फरवरी को ख़त्म होगी, जबकि बारहवीं क्लास के इम्तहान दो मार्च तक चलेंगे. दसवीं क्लास में इस बार इकतीस लाख पंचानबे हजार छह सौ तीन स्टूडेंट शामिल होंगे, जबकि बारहवीं क्लास के छब्बीस लाख ग्यारह हजार तीन सौ उन्नीस बच्चे परीक्षा देंगे.

प्रयागराज: दुनिया का सबसे बड़ा एजुकेशनल बोर्ड कहे जाने वाले यूपी बोर्ड की दसवीं और बारहवीं क्लास की परीक्षा कल सात फरवरी से शुरू हो रही है. योगी राज में शुरू हो रहे इस दूसरे बोर्ड परीक्षा में 58 लाख से ज़्यादा स्टूडेंट्स शामिल होंगे. परीक्षा में शामिल होने वालों में दसवीं क्लास के 31 लाख से ज़्यादा और बारहवीं के 26 लाख के करीब बच्चे हैं.

सीसीटीवी कैमरे के साथ लगाए गए हैं वॉयस रिकार्डर

इस बार के बोर्ड इम्तहान में नक़ल रोकने और परीक्षा को बिना विवादों के आयोजित कराने को लेकर कई नये कदम उठाए जाने के दावे किये जा रहे हैं. इस बार सभी सेंटर्स पर सीसीटीवी कैमरे लगाने के साथ ही कई केंद्रों वॉयस रिकार्डर भी लगाए गए हैं. बिना सीसीटीवी वाले क्लासरूम में इम्तहान नहीं होंगे. नक़ल रोकने के लिए इस बार के इम्तहान में एसटीएफ और एलआईयू को भी लगाया गया है. हर मंडल में शिक्षा विभाग के बड़े अफसरों को पर्यवेक्षक बनाकर भेजा गया. बोर्ड अफसरों ने सभी तैयारियां पूरी कर लिए जाने का दावा किया है. इन सबके बावजूद नक़ल पर पूरी तरह रोक लगा पाना और पूरी परीक्षा को बिना विवादों के संपन्न कराना किसी चुनौती से कम नहीं होगा.

7 से 28 फरवरी तक चलेगी परीक्षा

सात फरवरी से शुरू हो रहे दसवीं क्लास की परीक्षा अठाइस फरवरी को ख़त्म होगी, जबकि बारहवीं क्लास के इम्तहान दो मार्च तक चलेंगे. दसवीं क्लास में इस बार 3195603 स्टूडेंट शामिल होंगे, जबकि बारहवीं क्लास के 2611319 बच्चे परीक्षा देंगे.

यूपी के सभी 75 जिलों में हो रही है परीक्षा , बनाए गए हैं 8354 सेंटर
यूपी के सभी 75 जिलों में हो रहे इम्तहान के लिए 8354 सेंटर्स बनाए गए हैं. इस बार 1314 सेंटर्स को संवेदनशील और 448 केंद्रों को अति संवेदनशील घोषित किया गया है. इम्तहान कराने में तकरीबन तीन लाख टीचर्स व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है. इसके अलावा नक़ल रोकने के लिए एक हजार से ज़्यादा फ़्लाइंग स्क्वायड लगाए गए हैं.

पेपर पढ़ने के लिए इस बार भी पंद्रह मिनट का एक्स्ट्रा टाइम मिलेगा
दसवीं और बारहवीं दोनों ही क्लास में बच्चों को पेपर पढ़ने के लिए इस बार भी पंद्रह मिनट का एक्स्ट्रा टाइम दिया जाएगा. जेल में बंद कैदियों को परीक्षा दिलाने के लिए इस बार आठ जेलों को भी सेंटर बनाया गया है. यूपी बोर्ड ने स्टूडेंट्स और उनके अभिभावकों की मदद के लिए हेडक्वार्टर पर एक हेल्पलाइन सेंटर बनाया है. यह सेंटर चौबीसों घंटे काम करेगा, जिसमे तीन शिफ्ट में कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है. ये नंबर 0532 — 2622767, 2623182 और 2623139 हैं. बोर्ड की सचिव नीना श्रीवस्तव के मुताबिक इस बार नक़ल कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी.

What do you think?

1 point
Upvote Downvote

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading…

0

Comments

0 comments

‘दबंग 3’ में करेंगी आइटम सॉन्ग-करीना कपूर

क्यों दूर होते जा रहे हैं नेपाल और भारत ?